जेवर एयरपोर्ट के पास 500-500 एकड़ ज़मीन पर जापानी और कोरियाई इंडस्ट्रियाल टाउनशिप बनाई जाएंगी

Two Townships in 500-500 acre land will be developed near Jewar International Airport for Japanese and South Koreans

Two Townships in 500-500 acre land will be developed near Jewar International Airport for Japanese and South Koreans

जेवर एयरपोर्ट के पास 500-500 एकड़ ज़मीन पर जापानी और कोरियाई इंडस्ट्रियाल टाउनशिप बनाई जाएंगी

नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट के पास यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण यानी यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवेलपमेंट ऑथॉरिटी साउथ कोरियन और जैपनीज़ के लिए इंडस्ट्रियल टाउनशिप डेवेलप करने जा रही है।

दोनों टाउनशिप्स के लिए सेक्टर-7 में 500-500 एकड़ जमीन आरक्षित की गई है। इससे पहले राजस्थान के नीमराणा में जापानी शहर विकसित किया गया है। यमुना ऑथॉरिटी गौतम बुद्ध नगर में नीमराणा से बेहतर साउथ कोरियन और जापानी शहर विकसित करेगी। एस ई ज़ेड की तर्ज पर ये शहर विकसित किया जाएगा। जहां पर उद्योग के साथ जापानी अपनी संस्कृति और खाने के हिसाब से स्कूल, दुकान और मूलभूत सुविधाएं विकसित कर सकेंगे।

टाउनशिप में दोनों देशों के लोग उद्योग लगाकर परिसर के अंदर आवास भी बना सकते हैं। जापान और साउथ कोरिया के लोगों को टाउनशिप में निवेश के लिए यमुना एक्सप्रेसवे प्राधिकरण की तरफ से रोड शो भी किया जाएगा। यू पी ग्लोबल इंवेस्टर समिट में निवेशकों को बुलाने के लिए सरकार 9 दिसंबर से 18 दिसंबर तक अधिकारियों का 14 सदस्यीय दल जापान और साउथ कोरिया भेज रही है। जहां पर यमुना प्राधिकरण डेटा सेंटर, मेडिकल डिवाइस पार्क, इलेक्ट्रानिक्स मैन्यूफैक्चरिंग हब और सेमी कंडक्टर क्षेत्र में निवेशकों को बुलाने का प्रयास करेगा।

प्राधिकरण यहां पर कोरियन और जापानी इंडस्ट्रियल टाउनशिप विकसित करने के लिए निवेशकों को न्योता देगा। यहां पर उन्हें सभी तरह की सुविधाएं दी जाएंगी। उत्तर प्रदेश सरकार 10 से 12 फरवरी तक लखनऊ में यूपी ग्लोबल इंवेस्टर समिट का आयोजन करेगी। इसमें 10 लाख करोड़ का निवेश लाने का लक्ष्य रखा गया है। यमुना एक्सप्रेसवे क्षेत्र में जेवर के पास इंटरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण कार्य चल रहा है। एयरपोर्ट से 100 मीटर की दूरी पर सेक्टर-7 में 500-500 एकड़ ज़मीन कोरियन और जापानी इंडस्ट्रियल टाउनशिप के लिए रिज़र्व कर दी गई है.

यमुना एक्सप्रेसवे प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डाक्टर अरूणवीर सिंह ने बताया कि टाउनशिप के लिए जमीन का अधिग्रहण हो चुका है। विदेश दौरे के दौरान जापानी और कोरियन अफसरों को टाउनशिप के मास्टर प्लान से अवगत कराया जाएगा जिससे वे यहां आकर निवेश कर सकें।

टाउनशिप में 70 फीसदी एरिया में इंडस्ट्रीज, 10 फीसदी एरिया में आवासीय, 13 फीसदी एरिया में कमर्षियल, पांच फीसदी एरिया में स्कूल, कॉलेज, और अस्पताल, और एक फीसदी एरिया में मूलभूत सुविधाएं होंगी।

यमुना प्राधिकरण के अधिकारी भी 10 से 18 दिसंबर तक जापान और कोरिया में रोड शो करेंगे। कोरिया में सेमी कंडक्टर को लेकर तमाम संभावनाएं हैं। उम्मीद है कि यहां बड़ी कंपनियां आएंगी। अगर दोनों देश यहां पर इंडिस्ट्रियल टाउनशिप विकसित करते हैं तो यहां पर हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा। यमुना प्राधिकरण के सीईओ डा अरुणवीर सिंह ने बताया कि प्राधिकरण डाटा सेंटर, मेडिकल डिवाइस पार्क, इलेक्ट्रानिक्स मैन्यूफैक्चरिंग हब और सेमी कंडक्टर को अपने फोकस में रखेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: