Toote hain pankh magar टूटे हैं पंख मगर एक उड़ान बाकी है Hindi Shayari

Toote hain pankh magar टूटे हैं पंख मगर एक उड़ान बाकी है Hindi Shayari

Toote hain pankh magar टूटे हैं पंख मगर एक उड़ान बाकी है Hindi Shayari

Toote hain pankh magar Hindi Shayari

ख़त्म हुआ हूं नहीं कि अभी जान बाकी है

टूटे हैं पंख मगर एक उड़ान बाकी है

अग्निपरीक्षाओं से सत्य रोज़ गुज़रेगा

जब तलक सफेद झूठ का जहान बाकी है

किसपे विश्वास करें और किससे मशविरा

कैसे करें पता कि ईमान कहां बाकी है

लिस्ट में एहसानों की कई नाम कट गए

बाकी हैं कई जिनके नाम वहां बाकी है

कभी-कभी लगता है बदलेगा कुछ नहीं

जब तलक कि नफ़रत की वो दुकान बाकी है

गिर गई हैं दीवारें खंभे बने खंडहर

पगला सोचता है कि अब भी मकान बाकी है

ख़त्म हुआ हूं नहीं कि अभी जान बाकी है

टूटे हैं पंख मगर एक उड़ान बाकी है

https://vinternet.in/chamakta-chand-andheri-raat/

Khatm hua hoon nahin ki abhi jaan baaki hai

Toote hain pankh magar ek udaan baaki hai

Agnipareekshaon se satya roz guzrega

Jab talak safed jhooth ka jahan baaki hai

Kispe vishwas karein aur kis se mashvira

Kaise karein pata k eemaan kahaan baaki hai

List mein ehsaanon ki kai naam kat gaye

Baaki hain kai jinke naam vahaan baaki hai

Kabhi-kabhi lagta hai badlega kuchh nahin

Jab talak ke nafrat ki vo dukaan baaki hai

Gir gayi hain deewarein khambhe bane khandahar

Pagla sochta hai ki ab bhi makaan baaki hai

Khatm hua hoon nahin ki abhi jaan baaki hai

Toote hain pankh magar ek udaan baaki hai

https://vinternet.in/darbar-mein-raja-ke/

Leave a Comment

%d bloggers like this: