Natural Paint Made from Cow dung By KVIC 1 KG गोबर के बदले क्या मिलेगा?

Natural Paint Made from Cow dung By KVIC

Natural Paint Made from Cow dung By KVIC 1 KG गोबर के बदले मिलेगा कितना पैसा?

कौन खरीदेगा आपकी गाय का गोबर ?

1 किलो गोबर के बदले मिलेगा कितना पैसा ?

गोबर से कौन बनाएगा पेंट ?

गोबर से बना पेंट आम पेंट से कितना सस्ता होगा ?

https://youtu.be/zhqZQGOmNeU

अगर आप जानना चाहते हैं इन सवालों के जवाब तो इस वीडियो को देखिए आखिर तक और अगर आप पहली बार इस चैनल पर आए हैं तो इन्फ्रास्ट्रक्चर से जुड़ी लेटेस्ट न्यूज़ लगातार पाने के लिए इस चैनल को सब्स्क्राइब कर लीजिए अभी.

दोस्तों, अगर आप भी भारत के किसी गांव में रहते हैं और आपके पास गाय भी हैं तो मोटी कमाई के लिए तैयार हो जाइए. अब आपको मिलने वाला है गाय से काम और गोबर का अच्छा दाम.

Natural Paint Made from Cow dung By KVIC

KVIC यानी KHADI AND VILLAGE INDUSTRIES COMMISION जल्द ही देश भर के कई इलाकों में गाय के गोबर से नैचुरल पेंट बनाने की यूनिट लगाने जा रहा है. इन यूनिट्स पर आम लोगों और गौशालाओं से गोबर बाकायदा खरीदा जाएगा. गाय के गोबर के लिए पांच रुपये प्रति किलो के हिसाब से भुगतान किया जाएगा. यानी अगर कोई ग्रामीण महीने भर में गाय का 2000 किलो गोबर भी बेचता है तो उसे 10000 रुपये महीने की कमाई होने लगेगी.

फिलहाल गांवों में गोबर का इस्तेमाल उपले बनाकर ईंधन के तौर पर या खाद के तौर पर किया जाता है. लेकिन शहरी इलाकों में कई गौशालाओं में गोबर को पानी के साथ नालियों में बहा दिया जाता है. जिससे गंदगी तो फैलती ही है गोबर का भी इस्तेमाल नहीं हो पाता. लेकिन अब KVIC की मदद से न सिर्फ गोबर का सही इस्तेमाल होगा बल्कि गांव के लोगों को गोबर से अच्छा पैसा कमाने का मौका भी मिलेगा.

KVIC ने देश की राजधानी दिल्ली, यूपी के वाराणसी, गुजरात के अहमदाबाद, कर्नाटक के बेंगलुरू, महाराष्ट्र के नाशिक और ओडिशा के चौद्वार में भी नैचुरल पेंट की फैक्ट्री लगाने का फैसला किया है.

अब अगर आपको लगता है कि ये कोई अफवाह है या ऐसा पॉसिबल ही नहीं है तो इन तस्वीरों को देखिए. ये तस्वीरें हैं जनवरी 2021 की. ये तस्वीरें उस ईवेंट की हैं जब देश के MSME मिनिस्टर के तौर पर नितिन गडकरी ने पहली बार राजस्थान के जयपुर में गाय के गोबर से बना पेंट लॉन्च किया था.

KVIC चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना ने बताया कि आम लोगों और गौशालाओं (Gaushala) से पांच रुपये प्रति किलोग्राम की कीमत पर गोबर खरीदा जाएगा. KVIC के मुताबिक अभी लोग एक से डेढ़ रुपये प्रति किलोग्राम की दर पर गाय के गोबर को खाद या दूसरे कामों के लिए बेचते हैं. गोबर के उपले बनाकर भी बेचे जाते हैं जिसमें लागत और मेहनत भी लगती है. लेकिन अब KVIC चार से पांच गुना ज्यादा कीमत देकर गोबर खरीदेगा.

आमतौर पर एक हेल्दी गाय दिन में 20 से 25 किलोग्राम तक गोबर करती है. ऐसे में पांच रुपये प्रतिकिलो के हिसाब से एक गाय के गोबर को बेचने से ही रोजाना 100 रुपये से 125 रुपये तक की कमाई की जा सकती है. साथ ही महीने का तीन हजार रुपये से चार हजार रुपये तक एक गाय से कमाया जा सकता है. जबकि गाय का दूध और घी अलग हैं.

6 महीने पहले लांच हुए इस Natural Paint Made from Cow dung By KVIC की मांग लगातार बढ़ रही है. महज 12 दिन के अंदर गोबर से बना साढ़े तीन हजार लीटर पेंट बिक गया था. ये बिक्री सिर्फ दिल्ली और जयपुर के 2 स्टोर्स से की गई थी.

लोग अपने घरों की दीवारों पर इसका यूज़ कर रहे हैं. इस पेंट को लॉन्च करने वाले नितिन गडकरी ने भी इसका इस्तेमाल अपने घर की दीवारों पर किया है. वहीं खादी ग्रामोद्योग आयोग की कई बिल्डिंग्स में भी इसे यूज़ किया गया है. अब खादी ग्रामोद्योग आयोग ने इस पेंट की ऑनलाइन सेल Online Sale भी शुरू कर दी है. अब देशभर में कहीं से भी लोग इसे ऑर्डर कर सकते हैं.

गाय के गोबर से बना ये नैचुरल पेंट बाज़ार में मिलने वाले बड़ी कंपनियों के पेंट्स के मुकाबले लगभग आधी कीमत पर मिल रहा है. इसके डिस्टेम्पर की कीमत 120 रुपये किलो और इमलशन की कीमत 215 रुपये किलो रखी गई है. 

%d bloggers like this: