Plastic Processing Park in Gautam Budh Nagar प्लास्टिक प्रोसेसिंग पार्क

Plastic Processing Park in Gautam Budh Nagar प्लास्टिक प्रोसेसिंग पार्क

Plastic Processing Park in Gautam Budh Nagar प्लास्टिक प्रोसेसिंग पार्क

उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर में यमुना ऑथॉरिटी एरिया में मेडिकल डिवाइस पार्क, टॉय पार्क, टेक्सटाइल पार्क और लेदर पार्क के साथ-साथ अब Plastic Processing Park भी डेवेलप किया जाएगा.
यीडा यानी यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवेलपमेंट ऑथॉरिटी इस Plastic Processing Park को 100 एकड़ एरिया में डेवेलप करेगी. ऐसा ही एक पार्क गोरखपुर में भी 52 एकड़ एरिया में बनाया जाएगा.


इन दोनों प्लास्टिक प्रोसेसिंग पार्कों से उत्तर प्रदेश में हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा. साथ ही साथ यूपी में प्लास्टिक इंड्रस्ट्री को भी बढ़ावा मिलेगा. यूपी सरकार ने अगले 10 साल में होने वाली प्लास्टिक की कई गुना डिमांड को देखते हुए इस इंडस्ट्री को बढ़ावा देने का काम शुरू किया है. सरकार को उम्मीद है कि इन प्लास्टिक प्रोसेसिंग पार्कों में प्लास्टिक इंडस्ट्री की बड़ी कंपनियां इन्वेस्टमेंट करेंगी.

Plastic Processing Park in Gautam Budh Nagar प्लास्टिक प्रोसेसिंग पार्क

दुनिया भर में प्लास्टिक की डिमांड तेजी से बढ़ रही है. ऑल इंडिया प्लास्टिक इंडस्ट्रीज़ एसोसिएशन ने कई बार रिक्वेस्ट की थी कि यीडा एरिया में प्लास्टिक इंडस्ट्री के लिए कोई स्कीम लाई जाए. एसोसिएशन का दावा है कि साल 2030 तक प्लास्टिक की डिमांड 5 से 6 गुना बढ़ सकती है. इसीलिए नई इंडस्ट्री लगाई जानी ज़रूरी हैं जिनसे भविष्य की ज़रूरतों को पूरा किया जा सके.

यमुना ऑथॉरिटी के सीईओ का कहना है कि सरकार ने इंडस्ट्रियल इन्वेस्टमेंट को बढ़ावा देने के लिए जो पॉलिसीज़ बनाई हैं, उनसे बिग इन्वेस्टर्स काफी प्रभावित हुए हैं. ये निवेशक सरकार की इंवेस्टर फ्रेंडली पॉलिसीज़ का फायदा लेते हुए अपनी यूनिट उत्तर प्रदेश में लगाना चाहते हैं. इसी के तहत ऑल इंडिया प्लास्टिक इंडस्ट्रीज़ एसोसिएशन ने यीडा एरिया में प्लास्टिक प्रोसेसिंग पार्क की स्थापना के लिए रिक्वेस्ट की थी. ऑथॉरिटी ने इसे स्वीकार करते हुए यीडा के सेक्टर 10 में ये पार्क डेवेलप करने का फैसला किया है.
अब एसोसिएशन की रिक्वेस्ट स्वीकार होने के बाद इस पार्क में इन्वेस्टमेंट करने के लिए 20 से ज्यादा इन्वेस्टर्स ने प्रपोज़ल दिए हैं.

Plastic Processing Park in Gautam Budh Nagar प्लास्टिक प्रोसेसिंग पार्क

इस पार्क में मेडिकल इक्विपमेंट, एग्रीकल्चर इक्विपमेंट, पीवीसी पाइप, पैकेजिंग और प्लास्टिक फर्नीचर बनाने के प्रपोज़ल दिए गए हैं. ऑथॉरिटी ने इन इन्वेस्टर्स से डिटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट मांगी है. यीडा के प्लास्टिक प्रोसेसिंग पार्क में दो हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा.


इसी तरह गोरखपुर के प्लास्टिक प्रोसेसिंग पार्क में भी बड़ी संख्या में लोगों को रोज़गार मिलेगा. गोरखपुर के पार्क में 100 से ज्यादा यूनिट्स लगने की संभावना है. इसके अलावा प्लास्टिक प्रोसेसिंग पार्क में प्लास्टिक पर रिसर्च करने और प्लास्टिक की रीसाइक्लिंग करने के लिए एक टेस्टिंग लैब भी बनाई जाएगी. 5 एकड़ जमीन पर ये लैब CIPET यानी सेंट्रल इंस्टिट्यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के तहत बनाई जाएगी.

%d bloggers like this: