Jewar Airport will connect to Chola Railway Station of Delhi Howrah Line

Jewar Airport will connect to Chola Railway Station of Delhi Howrah Line

Jewar Airport will connect to Chola Railway Station of Delhi Howrah Line
Jewar Airport will connect to Chola Railway Station of Delhi Howrah Line

जेवर एयरपोर्ट से जुड़ेगा दिल्ली-हावड़ा रूट का चोला स्टेशन

नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा एयरपोर्ट बनने वाला है. दूर-दराज़ के लोग भी यहां तक पहुंच सकें इसके लिए इसकी कनेक्टिविटी पर खास ध्यान दिया जा रहा है. अब जेवर एयरपोर्ट को दिल्ली हावड़ा रेल लाइन से भी जोड़ने की तैयारी है. इसके लिए केंद्र सरकार को प्रपोज़ल भेजा जाएगा. यमुना ऑथॉरिटी ये प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजेगी. राज्य सरकार के जरिये इस प्रस्ताव को केंद्र सरकार को भेजा जाएगा.

योजना ये है कि दिल्ली हावड़ा रेल लाइन के चोला रेलवे स्टेशन से जेवर एयरपोर्ट तक रेलवे ट्रैक बिछाया जाएगा. जेवर एयरपोर्ट की साइट से दिल्ली हावड़ा रेलमार्ग पर बना चोला रेलवे स्टेशन सिर्फ 15 किलोमीटर की दूरी पर है. इस स्टेशन से जेवर एयरपोर्ट तक रेल लाइन बिछाई जाएगी. इस लाइन का यूज़ केवल माल ढुलाई के लिए किया जाएगा.

इसके अलावा जेवर एयरपोर्ट को मेट्रो लाइन के ज़रिए दिल्ली एयरपोर्ट से जोड़ने की योजना पर भी काम जारी है. जेवर एयरपोर्ट को ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क-दो स्टेशन से जोड़ा जाएगा. 25 किलोमीटर की इस मेट्रो लाइन पर लगभग आधा दर्जन स्टेशन बनाए जाएंगे. इसके अलावा सेक्टर 144 से मेट्रो लाइन को दिल्ली के शिवाजी स्टेडियम मेट्रो स्टेशन से जोड़ने की तैयारी है. इस तरह से इंदिरा गांधी इंटरनैशनल एयरपोर्ट तक जा रही मेट्रो लाइन से जेवर एयरपोर्ट की मेट्रो लाइन कनेक्ट हो जाएगी.

दरअसल नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट को सड़क, मेट्रो, और हाईस्पीड ट्रेन से कनेक्टिविटी देने के विकल्पों पर तेज़ी से काम हो रहा है. इसी के तहत एयरपोर्ट को सड़क कनेक्टिविटी का एक और विकल्प मिलेगा. खुर्जा में एनएच 91 से जेवर एयरपोर्ट तक सड़क बनाई जाएगी. इसके लिए सर्वे जल्द ही शुरू होने की उम्मीद है.

एयरपोर्ट के एनएच 91 से जुड़ने के बाद अलीगढ़, एटा, और फर्रुखाबाद जिले भी इससे सीधे जुड़ जाएंगे. इन जिलों के यात्री सीधे जेवर एयरपोर्ट पहुंच सकेंगे. खुर्जा शहर बिज़नेस के लिहाज से महत्वपूर्ण है. यहां बड़े लेवल पर चीनी मिट्टी के प्रॉडक्ट्स बनाए जाते हैं. जिन्हें देश विदेश में भेजा जाता है. एयरपोर्ट से सीधी कनेक्टिविटी का फायदा खुर्जा के कारोबार को भी मिलेगा. इसके अलावा यमुना ऑथॉरिटी का एरिया भी खुर्जा तक जाने का प्रस्ताव है. कुल मिलाकर भविष्य में जेवर एयरपोर्ट समेत यमुना ऑथॉरिटी के कई प्रोजेक्ट्स का फायदा खुर्जा को मिलने जा रहा है.

Noida International Airport Latest News in Hindi 31 KM की सड़क क्यों जरूरी?

Noida International Airport Latest News in Hindi | 31 KM की सड़क क्यों जरूरी है?

इस आर्टिकल में आप जानेंगे उस सड़क का अपडेट जो जेवर एयरपोर्ट को दिल्ली एयरपोर्ट से जोड़ने के लिए बेहद महत्वपूर्ण है. यूपी को हरियाणा से जोड़ने वाली इस सड़क के यूपी में आने वाले हिस्से के लिए ज़मीन अधिग्रहण की प्रोसेस शुरू हो गई है. 6 लेन की इस सड़क की कुल लंबाई 31 किलोमीटर होगी. इसका 7 किलोमीटर हिस्सा यूपी के गौतम बुद्ध नगर में और 24 किलोमीटर हिस्सा हरियाणा में होगा. यही वो सड़क होगी जो जेवर एयरपोर्ट को दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेसवे के रास्ते दिल्ली एयरपोर्ट से जोड़ेगी.

दरअसल दिल्ली मुम्बई एक्सप्रेसवे की शुरुआत दिल्ली एयरपोर्ट के नज़दीक से ही हो रही है. आगे चलकर दिल्ली मुम्बई एक्सप्रेसवे यूपी की सीमा के नज़दीक हरियाणा के बल्लभगढ़ से होकर गुजर रहा है. ऐसे में ज़रूरत थी एक ऐसी सड़क की जो यूपी के गौतम बुद्ध नगर से हरियाणा के बल्लभगढ़ तक जाए. इसीलिए इस सड़क का निर्माण करने का फैसला लिया गया.

अब गौतम बुद्ध नगर जिला प्रशासन ने इस सड़क के लिए ज़मीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू कर दी है. NHAI यानी नैशनल हाइवे ऑथॉरिटी ऑफ इंडिया की मांग पर ये काम शुरू किया गया है. 31 किलोमीटर की इस सड़क के लिए गौतमबुद्घ नगर में लगभग 70 हेक्टेयर जमीन अक्वायर की जानी है.

गौतम बुद्ध नगर के एडीएम-लैंड एक्विजिशन बलराम सिंह ने मीडिया को बताया है कि इस सड़क के लिए 4 गांवों की जम़ीन का अधिग्रहण किया जाना है. ये ज़मीन जेवर इलाके के वल्लभनगर, दयानतपुर, फलैंदा बांगर और करौली बांगर की होगी.

इन गांवों के किसानों से ऑब्जेक्शन्स मंगाए गए हैं. किसानों को आपत्ति दर्ज कराने के लिए 21 दिनों का वक्त दिया गया है. किसान जिला प्रशासन के पास आपत्तियां दर्ज करा सकते हैं. किसानों की शिकायतों का निपटारा होने के बाद जमीन अधिग्रहण शुरू होगा और उसके बाद सड़क बनाई जाएगी. सड़क निर्माण का काम एनएचएआई करेगा लेकिन उसका खर्च राज्य सरकार को देना होगा.

31 किलोमीटर की ये सड़क दयानतपुर गांव के पास यमुना एक्सप्रेस वे के 32 किमी प्वाइंट पर बनाए जा रहे इंटरचेंज से जुड़ेगी और इंटरचेंज से नोएडा एयरपोर्ट के एंट्री गेट तक 750 मीटर लंबी एलिवेटेड रोड बनाई जाएगी. इस तरह से एलिवेटेड रोड, इंटरचेंज, 31 किलोमीटर की सड़क और दिल्ली मुम्बई एक्सप्रेसवे मिलकर जेवर के नोएडा एयरपोर्ट को दिल्ली एयरपोर्ट से जोड़ देंगे.

Noida International Airport Latest News in Hindi | 31 KM की सड़क क्यों जरूरी है?


यमुना ऑथॉरिटी के ओएसडी और नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट लिमिटेड कंपनी के नोडल अफसर शैलेंद्र भाटिया ने बताया है कि नोएडा एयरपोर्ट के लिए मल्टी मोडल कनेक्टिविटी पर काम हो रहा है. दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे से कनेक्टिविटी भी इसी का हिस्सा है.

Greater Noida International Airport Latest News जेवर एयरपोर्ट की चारदीवारी

Greater Noida International Airport Latest News जेवर एयरपोर्ट की चारदीवारी

Greater Noida International Airport Latest News जेवर एयरपोर्ट की चारदीवारी,
Greater Noida International Airport Latest News जेवर एयरपोर्ट की चारदीवारी

जेवर में बन रहे नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट की सिक्योरिटी से जुड़ी हुई एक बड़ी खबर सामने आई है. कुछ वक्त पहले हमने इसी चैनल पर आपको एक वीडियो में बताया था कि जेवर एयरपोर्ट की सीधी-सीधी बाउंड्री बनाने के काम में परेशानी आ रही है.

एयरपोर्ट डेवेलपर कंपनी ने बाउंड्री बनाना शुरू करने से पहले पूरी ज़मीन की पैमाइश यमुना एक्स्प्रेसवे ऑथॉरिटी और तहसील के कर्मचारियों के साथ मिल कर की थी. पैमाइश से पता चला था कि कुछ ज़मीन ऐसी है जहां सीधी दीवार नहीं बनाई जा सकती. यानी ज़मीन पर मोड़ आ रहे हैं.

Greater Noida International Airport Latest News जेवर एयरपोर्ट की चारदीवारी

इन मोड़ों को खत्म करने के दो रास्ते हैं पहला ये कि डेवेलपर कंपनी सीधी दीवार बनाने पर बाहर जा रही जमीन को खाली छोड़ दे. और दूसरा ये कि सीधी बाउंड्री बनाने के लिए आसपास की कुछ और ज़मीन अक्वायर करे. इसके लिए डेवेलपर को किसानों से लगभग 40 हेक्टेयर जमीन और लेनी पड़ती. अब डेवेलपर ने फैसला किया है कि वो बाउंड्री बनाने के लिए कुछ ज़मीन खाली छोड़ने को तैयार है.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट की सुरक्षा की मजबूती के लिए चारदीवारी को सीधा बनाने का फैसला लिया गया है. यानी अक्वायर की गई ज़मीन का कुछ हिस्सा चारदीवारी के बाहर भी रहेगा. ये जमीन एयरपोर्ट के दूसरे या तीसरे फेज़ में इस्तेमाल की जाएगी. चारदीवारी के बाहर तार की फेंसिंग रहेगी. जिससे एयरपोर्ट की सिक्योरिटी के लिए 2 लेयर तैयार हो जाएंगी. इससे किसी के लिए भी डबल सिक्योरिटी को तोड़कर एयरपोर्ट एरिया में घुसना मुश्किल होगा.

अब जो बाउंड्री बनाई जाएगी वो अक्वायर की गई कुल ज़मीन से 2 मीटर अंदर की ओर होगी. नोएडा एयरपोर्ट की जमीन पर चारदीवारी का काम शुरू हो गया है. चारदीवारी के बीच-बीच में बने वॉच टावर पर तैनात सिक्योरिटी गार्ड दूर-दूर तक निगरानी कर सकेंगे.

एयरपोर्ट की अधिगृहीत जमीन सीधी लाइन में न होने की वजह से इस बात पर काफी मंथन चल रहा था कि चारदीवारी को सीधा रखा जाए या नहीं. आखिरकार फैसला हुआ कि किसानों से 40 हेक्टेयर जमीन लेने के बजाए एयरपोर्ट की अधिगृहीत जमीन पर पहले से मौजूद तार फेंसिंग के अंदर ही सीधी चारदीवारी बनाई जाएगी.

यमुना ऑथॉरिटी के ओएसडी शैलेंद्र भाटिया का कहना है कि एयरपोर्ट की जमीन की पैमाइश के बाद सभी बिदुओं का मिलान किया गया है. एयरपोर्ट की चारदीवारी लगभग 18 किमी लंबी हो सकती है. चारदीवारी सीधी होने से सुरक्षा चौकी, और टॉवर भी कम बनेंगे और दूर तक निगरानी आसान होगी.

यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड , यमुना विकास प्राधिकरण और तहसील प्रशासन की टीमों ने एयरपोर्ट की जमीन की दोबारा से पैमाइश की थी. एयरपोर्ट के शिलान्यास से पहले डेवेलपर कंपनी चारदीवारी का निर्माण कार्य शुरू कर चुकी है.

Greater Noida Jewar Airport Latest News एयरपोर्ट की बाउंड्री

Greater Noida Jewar Airport Latest News एयरपोर्ट की बाउंड्री

Greater Noida Jewar Airport Latest News एयरपोर्ट की बाउंड्री
Greater Noida Jewar Airport Latest News एयरपोर्ट की बाउंड्री

उत्तर प्रदेश के जेवर में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट की साइट पर हो रहे काम की कुछ और तस्वीरें सामने आई हैं. ये तस्वीर है एयरपोर्ट की बाउंड्री वॉल के लिए किए जा रहे काम की.

नोएडा एयरपोर्ट के लिए चुनी गई जमीन की पैमाइश से जुड़ा काम पूरा होने के बाद अब बाउंड्री वॉल का काम शुरू किया जा चुका है. जेवर-झाजर मार्ग पर रन्हेरा चौकी के पास से बाउंड्री बनाने का काम शुरू किया गया है. एयरपोर्ट की ये दीवार 20 किलोमीटर लंबी होगी. इसकी लंबाई दोनों तरफ 6-6 किलोमीटर होगी. जबकि चौड़ाई 4-4 किलोमीटर के आसपास होगी.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जिस जगह बाउंड्री वॉल का काम शुरू किया गया है उसी जगह ऑफिशियल ग्राउंडब्रेकिंग सेरेमनी यानी शिलान्यास कार्यक्रम होगा. अभी रन्हेरा चौकी से लेकर गांव तक दीवार बनाई जा रही है. इसके बाद एयरपोर्ट के लिए पूरे 20 किलोमीटर की दीवार बनाई जाएगी.

Greater Noida Jewar Airport Latest News
Greater Noida Jewar Airport Latest News एयरपोर्ट की बाउंड्री

इस तस्वीर में आप देख सकते हैं कि ज़मीन पर हर 10 फीट पर आरसीसी के पिलर लगाने की तैयारी की जा रही है. इसके लिए जमीन के पांच फीट नीचे से स्ट्रक्चर तैयार किया जा रहा है.

शुरुआती काम कर रही कंपनी का कहना है कि फिलहाल वो काम किए जा रहे हैं जो सबसे ज्यादा ज़रूरी हैं. यानी उस ज़मीन पर काम किया जा रहा है जो समतल है और उसका इस्तेमाल एय़रपोर्ट के लिए शुरुआत में ही किया जाना है.

Greater Noida Jewar Airport

एयरपोर्ट साइट पर जहां भी सड़क या नाला है वहां अभी निर्माण नहीं किया जा रहा. पहले फेज के लिए डेवेलपर कंपनी को लगभग साढ़े तेरह सौ हेक्टेयर ज़मीन सौंपी गई है.

Jewar Airport Latest News
Greater Noida Jewar Airport Latest News एयरपोर्ट की बाउंड्री

कंपनी ने बाउंड्री बनाने से पहले पूरी ज़मीन की पैमाइश यमुना एक्स्प्रेसवे ऑथॉरिटी और तहसील के कर्मचारियों के साथ मिल कर की है. पैमाइश से पता चला है कि कुछ ज़मीन ऐसी है जहां सीधी दीवार नहीं बनाई जा सकती. यानी ज़मीन पर मोड़ आ रहे हैं. इन मोड़ों को खत्म करने के दो रास्ते हैं पहला ये कि डेवेलपर कंपनी सीधी दीवार बनाने पर बाहर जा रही जमीन को खाली छोड़ दे. और दूसरा ये कि सीधी बाउंड्री बनाने के लिए आसपास की कुछ और ज़मीन अक्वायर करे. इसके लिए डेवेलपर को किसानों से लगभग 40 हेक्टेयर जमीन और लेनी होगी.

Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट

Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट

जेवर से पहली फ्लाइट 30 सितम्बर 2024

Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट
Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट

अक्टूबर 2021 की शुरुआत जेवर के नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिहाज़ से काफी महत्वपूर्ण रही है. NIAL यानी नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड और एयरपोर्ट डेवेलपर कंपनी के बीच 40 साल का अग्रीमेंट 1 अक्टूबर से लागू हो गया है.

Jewar Airport Latest News in Hindi

एयरपोर्ट डेवेलप करने का काम स्विस कंपनी को दिया गया है. नियाल ने एयरपोर्ट डेवेलपर कंपनी YIAPL को एयरपोर्ट के लिए 40 साल का लाइसेंस दिया है. 1 अक्टूबर 2021 को यूपी की राजधानी लखनऊ में ये अग्रीमेंट हुआ. अग्रीमेंट के दौरान नियाल के सीईओ अरुणवीर सिंह, नोडल ऑफिसर शैलेंद्र भाटिया, अपर मुख्य सचिव एस पी गोयल, और YIAPL के सीईओ क्रिस्टोफ श्नैलमैन मौजूद थे.

40 साल के इस अग्रीमेंट के मुताबिक डेवेलपर कंपनी को 3 साल के अंदर एयरपोर्ट शुरू करना होगा. यानी 30 सितम्बर 2024 तक जेवर के इस एयरपोर्ट से फ्लाइट शुरू हो जाएगी. पहले फेज में एयरपोर्ट के 2 रनवे बनाए जाएंगे. पहले फेज का डेवेलपमेंट 1334 हेक्टेयर ज़मीन पर किया जाएगा.

जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट
Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट

एयरपोर्ट डेवेलप करने के लिए YIAPL अलग-अलग कंपनियों से सहयोग ले रही है. एयरपोर्ट साइट पर शुरुआती काम 23 अगस्त 2021 को ही शुरू हो गया था. शुरुआत ज़मीन की लेवलिंग और बाउंड्री बनाने के काम से की गई है.

जेवर एयरपोर्ट का पहला टर्मिनल टी वन होगा. टी वन दो हिस्सों में बनाया जाएगा. टी वन का पहला हिस्सा 3 साल में यानी 2024 तक तैयार हो जाएगा. इससे हर साल 1 करोड़ 20 लाख यात्री सफर करेंगे. इसके बाद टी वन का दूसरा हिस्सा तैयार किया जाएगा. टर्मिनल वन के दोनों हिस्सों के तैयार होने के बाद जेवर से हर साल कुल 3 करोड़ लोग हवाई यात्रा कर सकेंगे.

Jewar Airport Latest News
Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट

इसी तरह टर्मिनल टू यानी टी टू का काम भी 2 फेज में पूरा होगा. टी टू का पहला हिस्सा बनने के बाद जेवर एयरपोर्ट की कुल क्षमता 5 करोड़ यात्री सालाना हो जाएगी. जबकि टी टू का दूसरा हिस्सा बनने के बाद एयरपोर्ट की कुल क्षमता 7 करोड़ यात्री सालाना हो जाएगी. मुसाफिरों की सुविधा के लिए दोनों टर्मिनल इंटरकनेक्टेड रखे जाएंगे.

Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो से कनेक्ट होगा जेवर एयरपोर्ट

Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी

जेवर में बन रहा नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट कनेक्टिविटी के मामले में देश का नंबर वन एयरपोर्ट होगा. सड़क, रेल और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट देश के अलग-अलग हिस्सों से वेल कनेक्टेड होगा. रोड, रेल और मेट्रो से जिस तरह जेवर एयरपोर्ट जुड़ा होगा वैसे देश का कोई भी एयरपोर्ट जुड़ा हुआ नहीं है.

सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी
Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी

जेवर एयरपोर्ट आगरा को दिल्ली से जोड़ने वाले यमुना एक्सप्रेस वे के पास बनाया जा रहा है. इसे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे से भी जोड़ा जाएगा. दिल्ली मुम्बई एक्सप्रेसवे गौतमबुद्ध नगर की सीमा के सबसे करीब हरियाणा के बल्लभगढ़ से होकर गुजर रहा है. बल्लभगढ़ से नोएडा एयरपोर्ट तक सड़क का निर्माण कर इसकी कनेक्टिविटी दिल्ली मुम्बई एक्सप्रेसवे तक हो जाएगा.

Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी
Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी

अगर रेल कनेक्टिविटी की बात करें तो जेवर एयरपोर्ट ग्रेटर नोएडा के ही बोड़ाकी में बनने वाले रेलवे टर्मिनल से भी जुड़ेगा. बोड़ाकी रेलवे टर्मिनल से देश के पूर्वी हिस्से की ओर जाने वाली ट्रेनें चलेंगी. इससे दिल्ली, नई दिल्ली और आनंद विहार टर्मिनल पर भी दबाव कम होगा. ग्रेटर नोएडा और उसके आसपास रहने वालों को पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, और पश्चिम बंगाल जैसी जगहों ट्रेनें यहीं से मिल सकेंगी.

Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी

बोड़ाकी के पास मल्टीमोडल ट्रांसपोर्ट हब और लॉजिस्टिक हब डेवेलप किए जा रहे हैं. 1208 हेक्टेयर एरिया में ये दोनों हब लगभग 3884 करोड़ रुपये की लागत से बनेंगे. हाल ही में केंद्र सरकार ने इस प्रोजेक्ट को मंजूरी दी है. मल्टीमोडल ट्रांसपोर्ट हब यात्रियों के लिए लॉजिस्टिक हब इंडस्ट्रीज़ के माल ढुलाई के लिए बनाया जा रहा है. मल्टीमोडल ट्रांसपोर्ट हब प्रोजेक्ट के तहत रेलवे, बस अड्डा व मेट्रो कनेक्टिविटी विकसित होगी. यहां अंतरराज्यीय बस अड्डा भी बनाने की योजना है.

Jewar Airport road Connectivity
Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी

इसके अलावा नोएडा एयरपोर्ट को मेट्रो कनेक्टिविटी देने के लिए यीडा और डीएमआरसी के बीच एमओयू हो चुका है. नोएडा एयरपोर्ट को परी चौक यानी नॉलेज पार्क से जोड़ने के लिए डीपीआर बनाने का काम दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन को सौंप दिया है. परी चौक को शिवाजी स्टेडियम मेट्रो स्टेशन तक मेट्रो से जोड़ने के लिए फिजिबिलटी रिपोर्ट भी डीएमआरसी से तैयार करवायी जा रही है.

जेवर एयरपोर्ट के तेजी से हो रहे काम को देखते हुए इसे मेट्रो रेल से जोड़ने का काम प्रदेश सरकार की प्रायोरिटी में शामिल है.

Jewar Airport metro Connectivity
Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी

एयरपोर्ट मेट्रो प्रोजेक्ट में नॉलेज पार्क से जेवर एयरपोर्ट के बीच हर छह या सात किलोमीटर पर एक मेट्रो स्टेशन होगा. इस मेट्रो लाइन पर 6 स्टेशन बनने की उम्मीद है जो कि सेक्टर 18, सेक्टर 20, सेक्टर 21, सेक्टर 22 डी, सेक्टर 28 और जेवर एयरपोर्ट पर बनेंगे.

Jewar Airport travel will be cheaper from Jewar दिल्ली के मुकाबले जेवर सस्ता

Air travel will be cheaper from Jewar Airport दिल्ली के मुकाबले जेवर से सस्ती होगी उड़ान

Air travel will be cheaper from Jewar Airport दिल्ली के मुकाबले जेवर से सस्ती होगी उड़ान

अगर उत्तर प्रदेश सरकार एयरपोर्ट डेवेलपर YIAPL की एक रिक्वेस्ट मान लेती है तो आम लोगों के लिए जेवर एयरपोर्ट से हवाई यात्रा करना दिल्ली एयरपोर्ट के मुकाबले काफी सस्ता हो सकता है.

Air travel will be cheaper from Jewar Airport
Air travel will be cheaper from Jewar Airport दिल्ली के मुकाबले जेवर से सस्ती होगी उड़ान

जेवर में नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट डेवेलप कर रही कंपनी YIAPL यानी यमुना इंटरनैशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड ने उत्तर प्रदेश सरकार से एक अपील की है. YIAPL ने कहा है कि यूपी में उसका निवेश मेगा इन्वेस्टमेंट प्रोजेक्ट के तहत आता है इसलिए उसे जीएसटी, बिजली, पानी और अन्य सुविधाओं के भुगतान में छूट दी जाए.

आप जानते हैं कि YIAPL ने जेवर में एयरपोर्ट से जुड़े निर्माण कार्य की शुरुआत करवा दी है.
नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पहले फेज का काम 1334 हेक्टेयर एरिया में होना है. एयरपोर्ट साइट पर ज़मीन की लेवलिंग का काम जारी है. जल्द ही चारदीवारी पर भी काम शुरू होने वाला है. इसी बीच YIAPL ने यूपी सरकार से छूट की मांग की है.

दरअसल उत्तर प्रदेश सरकार ने YIAPL के साथ स्टेट सपोर्ट एग्रीमेंट किया है. इसी अग्रीमेंट के तहत YIAPL ने यूपी सरकार के पास छूट के लिए आवेदन किया है. उत्तर प्रदेश सरकार मेगा इंवेस्टमेंट परियोजना के तहत इन्वेस्टर्स को कई तरह की रियायतें देती है. ये छूट अलग-अलग इंडस्ट्रीज़ के हिसाब से दी जाती हैं. ये रियायत तब दी जाती है जब कोई कंपनी 200 करोड़ रुपये से ज्यादा का निवेश प्रदेश में किसी प्रोजेक्ट में करती है.

Air travel will be cheaper from Jewar Airport दिल्ली के मुकाबले जेवर से सस्ती होगी उड़ान
Air travel will be cheaper from Jewar Airport दिल्ली के मुकाबले जेवर से सस्ती होगी उड़ान

जेवर एयरपोर्ट के पहले फेज़ में ही लगभग 29500 करोड़ रुपये खर्च होने की संभावना है. इसी के आधार पर YIAPL ने रियायत मांगी है. यूपी सरकार सिविल एविएशन गाइडलाइन्स के मुताबिक जेवर एयरपोर्ट प्रोजेक्ट के लिए रियायत दे सकती है.

मेगा इन्वेस्टमेंट प्रोजेक्ट के तहत सरकार कंपनी को जीएसटी में छूट, ब्याज दर में सब्सिडी, पानी की कीमत में छूट, और बिजली के फिक्स्ड चार्ज में छूट दे सकती है.

Air travel will be cheaper from Jewar Airport दिल्ली के मुकाबले जेवर से सस्ती होगी उड़ान
Air travel will be cheaper from Jewar Airport दिल्ली के मुकाबले जेवर से सस्ती होगी उड़ान

उदाहरण के तौर पर दिल्ली में विमान के इंजन फ्यूल पर 28 प्रतिशत जीएसटी लगता है. इसमें 14 प्रतिशत हिस्सा राज्य और 14 प्रतिशत हिस्सा केंद्र सरकार का होता है. लेकिन अगर यूपी सरकार चाहे तो जीएसटी में छूट दे सकती है.

अगर यूपी सरकार जीएसटी और बाकी मामलों में YIAPL को छूट देती है तो जेवर एयरपोर्ट से हवाई यात्रा भी सस्ती हो सकती है. हो सकता है कि जेवर एयरपोर्ट से ट्रैवल करना दिल्ली एयरपोर्ट से ट्रैवल करने के मुकाबले सस्ता भी हो जाए. डेवेलपर YAIPL ने उम्मीद जताई है कि सरकार उन्हें नियमों के मुताबिक छूट देगी. अब फैसला सरकार को करना है.

Noida Airport Latest News in Hindi Shilanyas in Navratri नवरात्र में शिलान्यास

Noida Airport Latest News in Hindi Shilanyas in Navratri नवरात्र में शिलान्यास

जून, जुलाई, अगस्त, और सितम्बर के बाद अब नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के शिलान्यास की तारीख अक्टूबर में खिसक गई है. कई मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि अब जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास अक्टूबर 2021 में किया जाएगा.

Noida Airport Latest News in Hindi

ख़बर है कि नवरात्रि में ये कार्यक्रम आयोजित किया जा सकता है. शिलान्यास टलने की एक वजह ये भी है कि 20 सितम्बर से 6 अक्टूबर तक पितृ पक्ष की वजह से कोई शुभ काम नहीं किया जा सकता. यानी 6 अक्टूबर के बाद ही शिलान्यास होने की कोई संभावना बनती है. और तब शुरू हो जाएंगे नवरात्र. इस बार शारदीय नवरात्र सात अक्टूबर 2021 से 15 अक्टूबर 2021 तक हैं.

Noida Airport Latest News in Hindi

पुराणों में शारदीय नवरात्रि का विशेष महत्व बताया गया है. इस दौरान कोई भी नया काम शुरू करना शुभ माना जाता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए नवरात्रि का विशेष महत्व है. कहा जाता है कि वो दोनों प्रकट नवरात्रि में पूरे 9 दिन व्रत रखते हैं. इसके अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बारे में भी कहा जाता है कि वो भी पूरे नौ दिन व्रत रखते हैं. इसीलिए संभावना है कि नवरात्रि के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संयुक्त रूप से एयरपोर्ट के लिए भूमिपूजन कर सकते हैं.

https://vinternet.in/cheapest-smartphone-in-2021-jiophone-next/

Noida Airport Latest News in Hindi

भूमिपूजन की तारीख 14 अक्तूबर यानी रामनवमी भी हो सकती है. हालांकि अभी भी प्राइम मिनिस्टर ऑफिस से फाइनल तारीख नहीं आई है.

Noida Airport Latest News in Hindi

इससे पहले 23 अगस्त 2021 को जेवर एयरपोर्ट की साइट पर काम शुरू हो चुका है. फिलहाल ज़मीन की लेवलिंग और बाउंड्री का काम किया जा रहा है. ख़बर ये भी है कि उत्तर प्रदेश सरकार विधानसभा चुनाव की अधिसूचना जारी होने से पहले ही एयरपोर्ट का शिलान्यास करना चाहती है.

Noida International Airport in Jewar Will Connect to Yamuna Expressway

Noida International Airport in Jewar Will Connect to Yamuna Expressway यमुना एक्सप्रेसवे जेवर एयरपोर्ट से कैसे जुड़ेगा?

Noida International Airport in Jewar Will Connect to Yamuna Expressway

Jewar Airport Latest News in Hindi ये है कि यात्रियों को जेवर में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट तक पहुंचाने के लिए कई ऑप्शन उपलब्ध कराए जाएंगे ताकि उनका सफर आसान रहे.

अब जेवर एयरपोर्ट और यमुना एक्सप्रेसवे को जोड़ने के लिए तैयारी शुरू हो गई है. दोनों को कनेक्ट करने के लिए इंटरचेंज बनाया जाएगा. इंटरचेंज बनाने पर लगभग 50 करोड़ रुपये खर्च होंगे. 32.5 किलोमीटर के इंटरचेंज में दो उतार और दो चढ़ाव बनाए जाएंगे.

एनएचएआई यानी नैशनल हाइवे ऑथॉरिटी ऑफ इंडिया इसका निर्माण करेगी. यमुना प्राधिकरण और NHAI में इस पर सहमति बन चुकी है. इंटरचेंज का डिजाइन भी तैयार हो गया है. यमुना प्राधिकरण जल्द ही इसके निर्माण के लिए एनएचएआई को लेटर जारी करेगा. कागजी कार्रवाई पूरी होने के बाद इंटरचेंज का निर्माण शुरू हो जाएगा.

इसके साथ ही इंटरचेंज से एयरपोर्ट की टर्मिनल बिल्डिंग तक करीब 750 मीटर लंबी एलिवेटेड रोड बनाई भी जाएगी। इसकी भी तैयारी चल रही है. प्रपोज़्ड इंटरचेंज से लेकर एयरपोर्ट की टर्मिनल बिल्डिंग तक की दूरी लगभग 750 मीटर है. इंटरचेंज से लेकर टर्मिनल बिल्डिंग तक ये एलिवेटेड रोड यमुना ऑथॉरिटी बनवाएगी.

Noida International Airport in Jewar Will Connect to Yamuna Expressway

पहले इस सड़क को एलिवेटेड बनाने का प्रस्ताव नहीं था लेकिन एयरपोर्ट एरिया में बुलेट ट्रेन और मेट्रो प्रोजेक्ट आने के बाद इसमें बदलाव किया गया है. यमुना एक्सप्रेसवे के इंटरचेंज से टर्मिनल बिल्डिंग तक बनने वाली एलिवेटेड रोड का एस्टीमेट तैयार किया जा रहा है. यमुना प्राधिकरण ये एलिवेटेड रोड भी एनएचएआई से ही बनवाएगा. एलिवेटेड रोड से यहां पर भविष्य में जाम की स्थिति बनने की संभावना नहीं रहेगी.

Jewar Airport Work Stopped जेवर एयरपोर्ट का काम रुका

Jewar Airport Work Stopped

Jewar Airport Work Stopped सांकेतिक चित्र Symbolic Picture

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जेवर में नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट की साइट पर काम रुक गया है. पिछले कई दिनों से एयरपोर्ट के लिए चुनी गई ज़मीन पर काम रुका हुआ है. काम क्यों रुका है इसकी सही-सही वजह सामने नहीं आई है.

सवाल है कि क्या बारिश की वजह से काम रोका गया है?

क्या कोरोना की तीसरी लहर की आशंका की वजह से काम रोका गया है?


क्या आधिकारिक शिलान्यास की वजह से काम रोका गया है?


या पितृ पक्ष की वजह से काम रोका गया है?

Jewar Airport Work Stopped Jewar Aiport Board

सबसे ज्यादा संभावना इसी बात की है कि श्राद्धों की वजह से काम रोका गया हो. जेवर एयरपोर्ट का काम 23 अगस्त 2021 को शुरू किया गया था. एयरपोर्ट के लिए अक्वायर की गई ज़मीन पर सबसे पहले साफ सफाई और समतलीकरण का काम किया जाना है. काम शुरू हुए लगभग एक महीना हो चुका है लेकिन अभी समतलीकरण ही पूरा नहीं हो पाया है. और अब तो पिछले कई दिनों से काम रुका ही हुआ है.

टारगेट रखा गया है कि 2023 में ही जेवर से फ्लाइट्स शुरू हो जाएं लेकिन इसकी उम्मीद कम ही लगती है.
हालांकि काम रुकने को लेकर जेवर के विधायक धीरेन्द्र सिंह ने सफाई दी है. धीरेंद्र सिंह का कहना है कि पीएम और सीएम की मौजूदगी में ऑफिशियल शिलान्यास होने के बाद एयरपोर्ट का काम तेज़ी पकड़ेगा. धीरेंद्र सिंह ने ये भी कहा है कि उन्हें यूपी के मुख्यमंत्री के दफ्तर से जानकारी मिली है कि श्राद्ध खत्म होने के बाद किसी भी दिन एयरपोर्ट का शिलान्यास हो सकता है. जैसे ही पीएमओ से तारीख मिलेगी वैसे ही एयरपोर्ट का भूमिपूजन कर दिया जाएगा.

जेवर विधायक ने ये भी बताया कि एयरपोर्ट का शिलान्यास अगस्त में ही होना था, लेकिन अफगानिस्तान में तख्तापलट और पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के निधन की वजह से प्रधानमंत्री के दप्तार से शिलान्यास का समय नहीं मिल पाया था. अब मुख्यमन्त्री दफ्तर ने पितृ पक्ष के बाद नवरात्र में एयरपोर्ट के शिलान्यास का कार्यक्रम कराने के लिए पीएमओ को प्रस्ताव भेजा है. अब प्रधानमंत्री कार्यालय से ही तारीख तय होनी है. शिलान्यास के बाद एयरपोर्ट का काम युद्धस्तर पर होगा.

%d bloggers like this: