Jewar Airport will connect to Chola Railway Station of Delhi Howrah Line

Jewar Airport will connect to Chola Railway Station of Delhi Howrah Line

Jewar Airport will connect to Chola Railway Station of Delhi Howrah Line
Jewar Airport will connect to Chola Railway Station of Delhi Howrah Line

जेवर एयरपोर्ट से जुड़ेगा दिल्ली-हावड़ा रूट का चोला स्टेशन

नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा एयरपोर्ट बनने वाला है. दूर-दराज़ के लोग भी यहां तक पहुंच सकें इसके लिए इसकी कनेक्टिविटी पर खास ध्यान दिया जा रहा है. अब जेवर एयरपोर्ट को दिल्ली हावड़ा रेल लाइन से भी जोड़ने की तैयारी है. इसके लिए केंद्र सरकार को प्रपोज़ल भेजा जाएगा. यमुना ऑथॉरिटी ये प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजेगी. राज्य सरकार के जरिये इस प्रस्ताव को केंद्र सरकार को भेजा जाएगा.

योजना ये है कि दिल्ली हावड़ा रेल लाइन के चोला रेलवे स्टेशन से जेवर एयरपोर्ट तक रेलवे ट्रैक बिछाया जाएगा. जेवर एयरपोर्ट की साइट से दिल्ली हावड़ा रेलमार्ग पर बना चोला रेलवे स्टेशन सिर्फ 15 किलोमीटर की दूरी पर है. इस स्टेशन से जेवर एयरपोर्ट तक रेल लाइन बिछाई जाएगी. इस लाइन का यूज़ केवल माल ढुलाई के लिए किया जाएगा.

इसके अलावा जेवर एयरपोर्ट को मेट्रो लाइन के ज़रिए दिल्ली एयरपोर्ट से जोड़ने की योजना पर भी काम जारी है. जेवर एयरपोर्ट को ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क-दो स्टेशन से जोड़ा जाएगा. 25 किलोमीटर की इस मेट्रो लाइन पर लगभग आधा दर्जन स्टेशन बनाए जाएंगे. इसके अलावा सेक्टर 144 से मेट्रो लाइन को दिल्ली के शिवाजी स्टेडियम मेट्रो स्टेशन से जोड़ने की तैयारी है. इस तरह से इंदिरा गांधी इंटरनैशनल एयरपोर्ट तक जा रही मेट्रो लाइन से जेवर एयरपोर्ट की मेट्रो लाइन कनेक्ट हो जाएगी.

दरअसल नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट को सड़क, मेट्रो, और हाईस्पीड ट्रेन से कनेक्टिविटी देने के विकल्पों पर तेज़ी से काम हो रहा है. इसी के तहत एयरपोर्ट को सड़क कनेक्टिविटी का एक और विकल्प मिलेगा. खुर्जा में एनएच 91 से जेवर एयरपोर्ट तक सड़क बनाई जाएगी. इसके लिए सर्वे जल्द ही शुरू होने की उम्मीद है.

एयरपोर्ट के एनएच 91 से जुड़ने के बाद अलीगढ़, एटा, और फर्रुखाबाद जिले भी इससे सीधे जुड़ जाएंगे. इन जिलों के यात्री सीधे जेवर एयरपोर्ट पहुंच सकेंगे. खुर्जा शहर बिज़नेस के लिहाज से महत्वपूर्ण है. यहां बड़े लेवल पर चीनी मिट्टी के प्रॉडक्ट्स बनाए जाते हैं. जिन्हें देश विदेश में भेजा जाता है. एयरपोर्ट से सीधी कनेक्टिविटी का फायदा खुर्जा के कारोबार को भी मिलेगा. इसके अलावा यमुना ऑथॉरिटी का एरिया भी खुर्जा तक जाने का प्रस्ताव है. कुल मिलाकर भविष्य में जेवर एयरपोर्ट समेत यमुना ऑथॉरिटी के कई प्रोजेक्ट्स का फायदा खुर्जा को मिलने जा रहा है.

Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो से कनेक्ट होगा जेवर एयरपोर्ट

Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी

जेवर में बन रहा नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट कनेक्टिविटी के मामले में देश का नंबर वन एयरपोर्ट होगा. सड़क, रेल और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट देश के अलग-अलग हिस्सों से वेल कनेक्टेड होगा. रोड, रेल और मेट्रो से जिस तरह जेवर एयरपोर्ट जुड़ा होगा वैसे देश का कोई भी एयरपोर्ट जुड़ा हुआ नहीं है.

सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी
Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी

जेवर एयरपोर्ट आगरा को दिल्ली से जोड़ने वाले यमुना एक्सप्रेस वे के पास बनाया जा रहा है. इसे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे से भी जोड़ा जाएगा. दिल्ली मुम्बई एक्सप्रेसवे गौतमबुद्ध नगर की सीमा के सबसे करीब हरियाणा के बल्लभगढ़ से होकर गुजर रहा है. बल्लभगढ़ से नोएडा एयरपोर्ट तक सड़क का निर्माण कर इसकी कनेक्टिविटी दिल्ली मुम्बई एक्सप्रेसवे तक हो जाएगा.

Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी
Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी

अगर रेल कनेक्टिविटी की बात करें तो जेवर एयरपोर्ट ग्रेटर नोएडा के ही बोड़ाकी में बनने वाले रेलवे टर्मिनल से भी जुड़ेगा. बोड़ाकी रेलवे टर्मिनल से देश के पूर्वी हिस्से की ओर जाने वाली ट्रेनें चलेंगी. इससे दिल्ली, नई दिल्ली और आनंद विहार टर्मिनल पर भी दबाव कम होगा. ग्रेटर नोएडा और उसके आसपास रहने वालों को पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, और पश्चिम बंगाल जैसी जगहों ट्रेनें यहीं से मिल सकेंगी.

Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी

बोड़ाकी के पास मल्टीमोडल ट्रांसपोर्ट हब और लॉजिस्टिक हब डेवेलप किए जा रहे हैं. 1208 हेक्टेयर एरिया में ये दोनों हब लगभग 3884 करोड़ रुपये की लागत से बनेंगे. हाल ही में केंद्र सरकार ने इस प्रोजेक्ट को मंजूरी दी है. मल्टीमोडल ट्रांसपोर्ट हब यात्रियों के लिए लॉजिस्टिक हब इंडस्ट्रीज़ के माल ढुलाई के लिए बनाया जा रहा है. मल्टीमोडल ट्रांसपोर्ट हब प्रोजेक्ट के तहत रेलवे, बस अड्डा व मेट्रो कनेक्टिविटी विकसित होगी. यहां अंतरराज्यीय बस अड्डा भी बनाने की योजना है.

Jewar Airport road Connectivity
Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी

इसके अलावा नोएडा एयरपोर्ट को मेट्रो कनेक्टिविटी देने के लिए यीडा और डीएमआरसी के बीच एमओयू हो चुका है. नोएडा एयरपोर्ट को परी चौक यानी नॉलेज पार्क से जोड़ने के लिए डीपीआर बनाने का काम दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन को सौंप दिया है. परी चौक को शिवाजी स्टेडियम मेट्रो स्टेशन तक मेट्रो से जोड़ने के लिए फिजिबिलटी रिपोर्ट भी डीएमआरसी से तैयार करवायी जा रही है.

जेवर एयरपोर्ट के तेजी से हो रहे काम को देखते हुए इसे मेट्रो रेल से जोड़ने का काम प्रदेश सरकार की प्रायोरिटी में शामिल है.

Jewar Airport metro Connectivity
Jewar Airport Connectivity सड़क, रेल, और मेट्रो के ज़रिए जेवर एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी

एयरपोर्ट मेट्रो प्रोजेक्ट में नॉलेज पार्क से जेवर एयरपोर्ट के बीच हर छह या सात किलोमीटर पर एक मेट्रो स्टेशन होगा. इस मेट्रो लाइन पर 6 स्टेशन बनने की उम्मीद है जो कि सेक्टर 18, सेक्टर 20, सेक्टर 21, सेक्टर 22 डी, सेक्टर 28 और जेवर एयरपोर्ट पर बनेंगे.

%d bloggers like this: