Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट

Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट

जेवर से पहली फ्लाइट 30 सितम्बर 2024

Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट
Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट

अक्टूबर 2021 की शुरुआत जेवर के नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिहाज़ से काफी महत्वपूर्ण रही है. NIAL यानी नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड और एयरपोर्ट डेवेलपर कंपनी के बीच 40 साल का अग्रीमेंट 1 अक्टूबर से लागू हो गया है.

Jewar Airport Latest News in Hindi

एयरपोर्ट डेवेलप करने का काम स्विस कंपनी को दिया गया है. नियाल ने एयरपोर्ट डेवेलपर कंपनी YIAPL को एयरपोर्ट के लिए 40 साल का लाइसेंस दिया है. 1 अक्टूबर 2021 को यूपी की राजधानी लखनऊ में ये अग्रीमेंट हुआ. अग्रीमेंट के दौरान नियाल के सीईओ अरुणवीर सिंह, नोडल ऑफिसर शैलेंद्र भाटिया, अपर मुख्य सचिव एस पी गोयल, और YIAPL के सीईओ क्रिस्टोफ श्नैलमैन मौजूद थे.

40 साल के इस अग्रीमेंट के मुताबिक डेवेलपर कंपनी को 3 साल के अंदर एयरपोर्ट शुरू करना होगा. यानी 30 सितम्बर 2024 तक जेवर के इस एयरपोर्ट से फ्लाइट शुरू हो जाएगी. पहले फेज में एयरपोर्ट के 2 रनवे बनाए जाएंगे. पहले फेज का डेवेलपमेंट 1334 हेक्टेयर ज़मीन पर किया जाएगा.

जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट
Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट

एयरपोर्ट डेवेलप करने के लिए YIAPL अलग-अलग कंपनियों से सहयोग ले रही है. एयरपोर्ट साइट पर शुरुआती काम 23 अगस्त 2021 को ही शुरू हो गया था. शुरुआत ज़मीन की लेवलिंग और बाउंड्री बनाने के काम से की गई है.

जेवर एयरपोर्ट का पहला टर्मिनल टी वन होगा. टी वन दो हिस्सों में बनाया जाएगा. टी वन का पहला हिस्सा 3 साल में यानी 2024 तक तैयार हो जाएगा. इससे हर साल 1 करोड़ 20 लाख यात्री सफर करेंगे. इसके बाद टी वन का दूसरा हिस्सा तैयार किया जाएगा. टर्मिनल वन के दोनों हिस्सों के तैयार होने के बाद जेवर से हर साल कुल 3 करोड़ लोग हवाई यात्रा कर सकेंगे.

Jewar Airport Latest News
Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट

इसी तरह टर्मिनल टू यानी टी टू का काम भी 2 फेज में पूरा होगा. टी टू का पहला हिस्सा बनने के बाद जेवर एयरपोर्ट की कुल क्षमता 5 करोड़ यात्री सालाना हो जाएगी. जबकि टी टू का दूसरा हिस्सा बनने के बाद एयरपोर्ट की कुल क्षमता 7 करोड़ यात्री सालाना हो जाएगी. मुसाफिरों की सुविधा के लिए दोनों टर्मिनल इंटरकनेक्टेड रखे जाएंगे.

Jewar Airport will be Like New York Airport विदेशी एयरपोर्ट्स से मुकाबला

Jewar Airport will be Like New York Airport विदेशी एयरपोर्ट्स से मुकाबला

जेवर में बन रहे नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट में कई ऐसी विशेषताएं होंगी जो अभी तक भारत के किसी भी एयरपोर्ट में नहीं हैं. इसमें हर चीज़ इंटरनैशनल स्टैंडर्ड की होगी. यानी जेवर में गांवों की ज़मीन पर बनने वाला एयरपोर्ट न्यूयॉर्क, ज्यूरिख और हॉन्गकॉन्ग के एयरपोर्ट्स को टक्कर देगा.

Jewar Airport latest news in hindi
Jewar Airport will Compete with International Airports Like New York, Zurich, and Hong Kong Airport

यहां एपीएम यानी ऑटोमेटेड पीपल मूवर्स का सिस्टम काम करेगा. एपीएम एक ऐसा ट्रांज़िट सिस्टम होता है जिसमें एयरपोर्ट जैसी जगहों पर लोगों को पॉइंट ए से पॉइंट बी तक ले जाने के लिए ड्राइवरलेस मोड ऑफ. ट्रांसपोर्ट का इंतज़ाम होता है.

Jewar Airport will Compete with International Airports Like New York, Zurich, and Hong Kong Airport

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नोएडा एयरपोर्ट पर न्यूयॉर्क एयरपोर्ट की तरह एयर ट्रेन भी चलाई जाएगी. जेवर एयरपोर्ट से यमुना ऑथॉरिटी एरिया में बनने वाली फिल्म सिटी तक एयर ट्रेन की व्यवस्था की जाएगी. यमुना ऑथॉरिटी एरिया के सेक्टर 21 में फिल्म सिटी बननी है. लोगों को फिल्म सिटी में बनने वाले एम्यूज़मेंट पार्क तक आसानी से पहुंचाने के लिए एयर ट्रेन की व्यवस्था होगी. जेवर एयरपोर्ट और यूपी फिल्म सिटी के बीच की दूरी 6 किलोमीटर है लेकिन यहां जो रैपिड लाइन बनाई जाएगी वो 16 किलोमीटर लंबी होगी. ये लाइन यमुना ऑथॉरिटी एरिया के अन्य सेक्टर्स और इंडस्ट्रियल इलाकों से भी गुज़रेगी.

Jewar Airport will be Like New York Airport
Jewar Airport will Compete with International Airports Like New York, Zurich, and Hong Kong Airport

एक और खास चीज़ जेवर एयरपोर्ट पर होगी वो ये कि यहां भविष्य में एयरक्राफ्ट की पार्किंग के लिए टनल्स बनाई जाएंगी. इन टनल्स में लॉजिस्टिक्स एरिया भी होगा ताकि एयरपोर्ट ऑपरेशन्स में कोई रुकावट ना आए. ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि इस एयरपोर्ट पर पैसेंजर्स की संख्या काफी ज्यादा होने वाली है.

उम्मीद है कि तीसरे फेज तक यहां से हर साल पांच करोड़ लोग ट्रैवल करेंगे. ऐसे में अगर टनल्स नहीं बनाई जाती है तो एयरपोर्ट की स्मूद फंक्शनिंग में मुश्किल आ सकती है.

Yamuna Authority Projects Update यमुना ऑथॉरिटी प्रोजेक्ट्स

Yamuna Authority Projects Update यमुना ऑथॉरिटी प्रोजेक्ट्स

15 सितम्बर 2021 बुधवार को YEIDA यानी यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवेलपमेंट ऑथॉरिटी की बोर्ड मीटिंग हुई. इस मीटिंग में ऑथॉरिटी के हर प्रोजेक्ट का अपडेट निकल कर सामने आया है.

इस मीटिंग में जेवर एयरपोर्ट,
यूपी की फिल्म सिटी,
एयरपोर्ट मेट्रो,
पॉड टैक्सी
राया हैरिटेज सिटी
और
टप्पल लॉजिस्टिक हब के काम की रिपोर्ट रखी गई.

Yamuna Expressway Industrial Deveelopment Authority

यमुना प्राधिकरण के सीईओ डॉ. अरुणवीर सिंह ने मीटिंग में बताया कि जेवर एयरपोर्ट की साइट पर डेवेलपर कंपनी ने 23 अगस्त 2021 से काम शुरू कर दिया है. उन्होंने कहा कि डेवेलपर कंपनी यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड को 31 जुलाई 2021 को 1334 हेक्टेयर जमीन पर कब्जा दे दिया गया था और 23 अगस्त से कंपनी ने साइट पर समतलीकरण का काम शुरू कर दिया.

Jewar Airport

यीडा की बोर्ड मीटिंग में जेवर एयरपोर्ट की यूपी और देश के बाकी हिस्सों से कनेक्टिविटी के काम पर भी अपडेट दिया गया. बताया गया कि DMRC को कहा गया है कि वो ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क से जेवर एयरपोर्ट तक मेट्रो प्रोजेक्ट की डीपीआर यानी डीटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करे. इसके अलावा DMRC को ही एक और काम दिया गया है. परी चौक यानी नॉलेज पार्क को दिल्ली के शिवाजी स्टेडियम मेट्रो स्टेशन तक मेट्रो से जोड़ने के लिए फिजिबिलटी रिपोर्ट भी डीएमआरसी से ही तैयार करवायी जा रही है.

Film City

Yamuna Authority Projects Update

यमुना ऑथॉरिटी एरिया के सेक्टर-21 में बनने वाली फिल्म सिटी के बारे में बताया गया कि डीपीआर बनाने वाली कंपनी सीबीआरई को फिल्म सिटी का ग्लोबल टेंडर निकालने का काम दिया गया है. मीटिंग में बताया गया कि CBRE ने सुझाव दिया था कि सेक्टर-21 में एक्सप्रेस-वे के पास कमर्शियल प्लॉट की 220 एकड़ की ज़मीन फिल्म सिटी के लिए दी जाए. बैठक में बताया गया कि यमुना ऑथॉरिटी के सेक्टर 21 के लेआउट प्लान को फिल्म सिटी प्रोजेक्ट के लिए रिवाइज किया गया है.

Film City

इसके अलावा बोर्ड मीटिंग में पॉड टैक्सी परियोजना की रिपोर्ट भी रखी गई. इसके लिए IPRCL यानी इंडियन पोर्ट रेल एंड रोपवे कॉरपोरेशन लिमिटेड ने डीपीआर बनाई है. पॉड टैक्सी…जेवर एयरपोर्ट और फिल्म सिटी के बीच चलाई जाएगी. इस मामले में एजेंसी ऑथॉरिटी के सुझावों के हिसाब से काम कर रही है.

Pod Taxi

मथुरा में राया अर्बन सेंटर के तहत राया हेरिटेज सिटी पर ऑथॉरिटी ने अपडेट दिया कि इसकी डीपीआर बनाई जा रही है और ये काम फाइनल स्टेज में है.

YAMUNA AUTHORITY BOARD MEETING LATEST NEWS UPDATE

यमुना ऑथॉरिटी का एक और बड़ा प्रोजेक्ट है टप्पल बाजना अर्बन सेंटर. अलीगढ़ के इस प्रोजेक्ट में एक लॉजिस्टिक्स पार्क बनाया जाना है. इसे लेकर बैठक में कहा गया कि ऑथॉरिटी ने इसकी डीपीआर बनाने का काम एक एजेंसी को दिया है. जल्द ही ये डीपीआर तैयार हो जाएगी.

यमुना ऑथॉरिटी के बोर्ड ने कहा है कि सभी योजनाओं को प्राथमिकता के आधार पर आगे बढ़ाया जाए.

Noida International Airport in Jewar Will Connect to Yamuna Expressway

Noida International Airport in Jewar Will Connect to Yamuna Expressway यमुना एक्सप्रेसवे जेवर एयरपोर्ट से कैसे जुड़ेगा?

Noida International Airport in Jewar Will Connect to Yamuna Expressway

Jewar Airport Latest News in Hindi ये है कि यात्रियों को जेवर में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट तक पहुंचाने के लिए कई ऑप्शन उपलब्ध कराए जाएंगे ताकि उनका सफर आसान रहे.

अब जेवर एयरपोर्ट और यमुना एक्सप्रेसवे को जोड़ने के लिए तैयारी शुरू हो गई है. दोनों को कनेक्ट करने के लिए इंटरचेंज बनाया जाएगा. इंटरचेंज बनाने पर लगभग 50 करोड़ रुपये खर्च होंगे. 32.5 किलोमीटर के इंटरचेंज में दो उतार और दो चढ़ाव बनाए जाएंगे.

एनएचएआई यानी नैशनल हाइवे ऑथॉरिटी ऑफ इंडिया इसका निर्माण करेगी. यमुना प्राधिकरण और NHAI में इस पर सहमति बन चुकी है. इंटरचेंज का डिजाइन भी तैयार हो गया है. यमुना प्राधिकरण जल्द ही इसके निर्माण के लिए एनएचएआई को लेटर जारी करेगा. कागजी कार्रवाई पूरी होने के बाद इंटरचेंज का निर्माण शुरू हो जाएगा.

इसके साथ ही इंटरचेंज से एयरपोर्ट की टर्मिनल बिल्डिंग तक करीब 750 मीटर लंबी एलिवेटेड रोड बनाई भी जाएगी। इसकी भी तैयारी चल रही है. प्रपोज़्ड इंटरचेंज से लेकर एयरपोर्ट की टर्मिनल बिल्डिंग तक की दूरी लगभग 750 मीटर है. इंटरचेंज से लेकर टर्मिनल बिल्डिंग तक ये एलिवेटेड रोड यमुना ऑथॉरिटी बनवाएगी.

Noida International Airport in Jewar Will Connect to Yamuna Expressway

पहले इस सड़क को एलिवेटेड बनाने का प्रस्ताव नहीं था लेकिन एयरपोर्ट एरिया में बुलेट ट्रेन और मेट्रो प्रोजेक्ट आने के बाद इसमें बदलाव किया गया है. यमुना एक्सप्रेसवे के इंटरचेंज से टर्मिनल बिल्डिंग तक बनने वाली एलिवेटेड रोड का एस्टीमेट तैयार किया जा रहा है. यमुना प्राधिकरण ये एलिवेटेड रोड भी एनएचएआई से ही बनवाएगा. एलिवेटेड रोड से यहां पर भविष्य में जाम की स्थिति बनने की संभावना नहीं रहेगी.

%d bloggers like this: