Sad Shayari काश हमने उसे सांसों से सुखाया होता Kash hamne use sanson se sukhaya hotaa Dard Bhari Shayari

Sad Shayari काश हमने उसे सांसों से सुखाया होता Kash hamne use sanson se sukhaya hotaa Dard Bhari Shayari

ख़्वाबों का पूरा जहां हमने सजाया होता

रुक तो जाते वो अगर हमने बुलाया होता

दिल पे इक बोझ सी है उनकी आंखों की नमी

काश हमने उसे सांसों से सुखाया होता

मुझे साये की तरह उनसे जुड़ जाना था

मेरे साये से जुड़ा उनका भी साया होता

अपने सीने की ख़लिश का सबब हम खुद हैं

ऐ खुदा तूने ही कोई रस्ता दिखाया होता

ख़्वाबों का पूरा जहां हमने सजाया होता

रुक तो जाते वो अगर हमने बुलाया होता

Khwabon kaa pura jahaan hamne sajaya hota

Ruk to jaate vo agar hamne bulaayaa hotaa

Dil pe ik bojh si hai unki aankhon ki nmi 

Kaash hamne use saanson se sukhaayaa hotaa

Mujhe saaye ki tarah unse jud jaanaa thaa

Mere saaye se judaa unkaa bhi saayaa hotaa

Apne seene ki khalish kaa sabab ham khud hai

Aey khudaa tune hi koi rastaa dikhaayaa hotaa

Khwaabon kaa puraa jhaan hamne sajaayaa hotaa

Ruk to jaate vo agar hamne bulaayaa hotaa

Leave a Comment

%d bloggers like this: