Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट

Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट

जेवर से पहली फ्लाइट 30 सितम्बर 2024

Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट
Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट

अक्टूबर 2021 की शुरुआत जेवर के नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिहाज़ से काफी महत्वपूर्ण रही है. NIAL यानी नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड और एयरपोर्ट डेवेलपर कंपनी के बीच 40 साल का अग्रीमेंट 1 अक्टूबर से लागू हो गया है.

Jewar Airport Latest News in Hindi

एयरपोर्ट डेवेलप करने का काम स्विस कंपनी को दिया गया है. नियाल ने एयरपोर्ट डेवेलपर कंपनी YIAPL को एयरपोर्ट के लिए 40 साल का लाइसेंस दिया है. 1 अक्टूबर 2021 को यूपी की राजधानी लखनऊ में ये अग्रीमेंट हुआ. अग्रीमेंट के दौरान नियाल के सीईओ अरुणवीर सिंह, नोडल ऑफिसर शैलेंद्र भाटिया, अपर मुख्य सचिव एस पी गोयल, और YIAPL के सीईओ क्रिस्टोफ श्नैलमैन मौजूद थे.

40 साल के इस अग्रीमेंट के मुताबिक डेवेलपर कंपनी को 3 साल के अंदर एयरपोर्ट शुरू करना होगा. यानी 30 सितम्बर 2024 तक जेवर के इस एयरपोर्ट से फ्लाइट शुरू हो जाएगी. पहले फेज में एयरपोर्ट के 2 रनवे बनाए जाएंगे. पहले फेज का डेवेलपमेंट 1334 हेक्टेयर ज़मीन पर किया जाएगा.

जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट
Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट

एयरपोर्ट डेवेलप करने के लिए YIAPL अलग-अलग कंपनियों से सहयोग ले रही है. एयरपोर्ट साइट पर शुरुआती काम 23 अगस्त 2021 को ही शुरू हो गया था. शुरुआत ज़मीन की लेवलिंग और बाउंड्री बनाने के काम से की गई है.

जेवर एयरपोर्ट का पहला टर्मिनल टी वन होगा. टी वन दो हिस्सों में बनाया जाएगा. टी वन का पहला हिस्सा 3 साल में यानी 2024 तक तैयार हो जाएगा. इससे हर साल 1 करोड़ 20 लाख यात्री सफर करेंगे. इसके बाद टी वन का दूसरा हिस्सा तैयार किया जाएगा. टर्मिनल वन के दोनों हिस्सों के तैयार होने के बाद जेवर से हर साल कुल 3 करोड़ लोग हवाई यात्रा कर सकेंगे.

Jewar Airport Latest News
Jewar Airport Latest News in Hindi जेवर एयरपोर्ट के लिए 40 साल का अग्रीमेंट

इसी तरह टर्मिनल टू यानी टी टू का काम भी 2 फेज में पूरा होगा. टी टू का पहला हिस्सा बनने के बाद जेवर एयरपोर्ट की कुल क्षमता 5 करोड़ यात्री सालाना हो जाएगी. जबकि टी टू का दूसरा हिस्सा बनने के बाद एयरपोर्ट की कुल क्षमता 7 करोड़ यात्री सालाना हो जाएगी. मुसाफिरों की सुविधा के लिए दोनों टर्मिनल इंटरकनेक्टेड रखे जाएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: