उत्तराखंड के हेल्थ आइकॉन मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि एनीमिया के बारे में जागरुकता फैलाना मातृशक्ति की असली सेवा है

उत्तराखंड के हेल्थ आइकॉन मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि एनीमिया के बारे में जागरुकता फैलाना मातृशक्ति की असली सेवा है

Health Icon of Uttarakhand CM Pushkar Singh Dhami Says Awareness about Anemia is a real service to the Mother power of country

उत्तराखंड के हेल्थ आइकॉन मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि एनीमिया के बारे में जागरुकता फैलाना मातृशक्ति की असली सेवा है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को  देहरादून में देहरादून ऑब्सेटेट्रिक्स एवं गाईन सोसाइटी द्वारा आयोजित ’नारी स्वास्थ्य जन आंदोलन यात्रा – एनीमिया नेशनल राइड’ कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।


Health Icon of Uttarakhand CM Pushkar Singh Dhami Says Awareness about Anemia is a real service to the Motherpower of country

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि समाज में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में निस्वार्थ भाव से काम करने वाले लोग हमेशा ही जन सेवा का कार्य करते हैं। बिना आशा एवं अपेक्षा के स्वास्थ्य के प्रति जनजागरूकता फैलाना निश्चित रूप से पुण्य का काम है।

सीएम धामी ने राष्ट्रीय स्तर पर नारी स्वास्थ्य जन आंदोलन कार्यक्रम की सराहना करते हुए इसे सामाजिक क्षेत्र का महाअभियान बताया। उन्होंने चम्पावत स्थित मायावती अद्वैत आश्रम में अपने प्रवास के अनुभव को साझा करते हुए बताया कि मायावती अस्पताल में वो सूरत के एक चिकित्सक से मिले जो साल में अपनी दो माह की सेवा, निस्वार्थ भाव से मायावती आश्रम के अस्पताल में देने आते हैं।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि सफल जीवन वही है जो दूसरों की सेवा में समर्पित रहता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य के क्षेत्र की योजना आयुष्मान भारत योजना भारत में चलाई जा रही है, जिसमे सालाना 5 लाख रुपये के इलाज की गारंटी मिलती है। उन्होंने कहा कि एनीमिया के प्रति भी लोगों को जागरूक करना वास्तव में मातृशक्ति की बड़ी सेवा है।


उत्तराखण्ड में मातृशक्ति के  कल्याण के लिये विभिन्न योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि डबल इंजन की सरकार ने सदैव ही राष्ट्रहित एवं मातृ शक्ति के हित में बढ़ते कदमों को मजबूती प्रदान करने हेतु प्रतिबद्धता से प्रयास किये हैं।

हमारी सरकार उत्तराखंड की मातृशक्ति के हितों के संरक्षण और संवर्धन के लिए प्रतिबद्ध है। राज्याधीन सरकारी सेवाओं में उनके 30 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण को संरक्षित करने के लिए हमने राज्य की महिलाओं के लिए आरक्षण विधेयक को पारित कराने के लिए विधान सभा के समक्ष प्रस्तुत किया है, ताकि उनके हितों का समुचित संरक्षण हो सके।

– पुष्कर सिंह धामी, मुख्यमंत्री, उत्तराखण्ड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: