ग्रेटर नोएडा वेस्ट मेट्रो कन्स्ट्रक्शन अपडेट का इंतज़ार कर रहे लोगों को मिलेगी नये साल 2023 में ख़ुशख़बरी

Greater Noida West Metro latest news in Hindi

Greater Noida west metro construction update
Greater Noida west metro construction update

ग्रेटर नोएडा वेस्ट मेट्रो कन्स्ट्रक्शन अपडेट का इंतज़ार कर रहे लोगों को मिलेगी नये साल 2023 में ख़ुशख़बरी

ग्रेनो वेस्ट को नए साल में मिलेगा तोहफा?
मेट्रो को किसकी मंज़ूरी? किसकी बाकी?

Greater Noida West Metro latest news in Hindi

ग्रेटर नोएडा वेस्ट मेट्रो कन्स्ट्रक्शन अपडेट का इंतज़ार कर रहे लोगों को नये साल यानी 2023 में मेट्रो को लेकर बड़ी खुशख़बरी मिल सकती है। ग्रेनो वेस्ट मेट्रो के लिए प्रोजेक्ट इन्वेस्टमेंट बोर्ड यानी पीआईबी ने सिफारिश कर दी है।

दिल्ली में बीते 17 नवंबर को पीआईबी की बैठक हुई थी। बैठक में सेक्टर-51 नोएडा से नॉलेज पार्क-5 ग्रेटर नोएडा तक ग्रेनो वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर की चर्चा हुई थी। फाइनेंस सेक्रेट्री की अध्यक्षता में हुई बैठक में मिनिस्ट्री ऑफ हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स के सचिव के अलावा अलग-अलग मंत्रालयों के अधिकारी और नोएडा मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (एनएमआरसी) की एमडी रितु माहेश्वरी भी उपस्थित रहीं थीं.

बैठक में एनएमआरसी की एमडी रितु माहेश्वरी ने पीआईबी के सामने प्रजेंटेशन दिया था। प्रजेंटेशन के बाद पीआईबी ने प्रोजेक्ट पर सहमति जताई थी। इससे पहले उत्तर प्रदेश सरकार पहले ही प्रोजेक्ट पर अपनी मंजूरी दे चुकी है।

इस प्रोजेक्ट के बजट पर सहमति और प्रोजेक्ट को मंजूरी मिलने में अब केवल कैबिनेट का अप्रूवल बाकी है।

अब प्रोजेक्ट को केन्द्र सरकार की कैबिनेट के अप्रूवल के लिए पेश किया जाएगा। वहां से मंजूरी के बाद प्रोजेक्ट पर काम शुरू होने का रास्ता खुल जाएगा। हालांकि इसमें एक से दो महीने का समय लग सकता है। ऐसे में नए साल की शुरुआत में ग्रेनो वेस्ट मेट्रो का निर्माण कार्य शुरू होने के आसार हैं।

ग्रेनो वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर की डीपीआर यानी डिटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट को केन्द्रीय कैबिनेट की मंजूरी मिलने के बाद काम शुरू कराने के लिए पांचवीं बार टेंडर निकाला जाएगा। इससे पहले चार बार इस प्रोजेक्ट के टेंडर निकाले जा चुके हैं. चौथी बार में तीन एजेंसियां सामने आ गई थीं। लेकिन डीपीआर को मंजूरी नहीं मिली थी। लिहाजा एनएमआरसी की एमडी की ओर से डीपीआर की मंजूरी के बाद ही टेंडर निकालने का फैसला लिया गया था।

इस प्रोजेक्ट के पूरा होने पर करीब तीन लाख परिवारों को सीधा फायदा होगा। इसमें दो लाख परिवार ग्रेटर नोएडा एक्सटेंशन के होंगे। इसके अलावा आसपास के गांवों में रहने वाले लोगों को भी इससे फ़ायदा होगा। नोएडा के सेक्टर-118, 119, 122, 121, और 123 सहित कई और सेक्टरों के निवासियों को भी लाभ मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: