Ayodhya Master Plan 2031 Presentation by Officers to CM Yogi Adityanath अयोध्या मास्टर प्लान 2031

Ayodhya Master Plan 2031 Presentation by Officers to CM Yogi Adityanath अयोध्या मास्टर प्लान 2031

अयोध्या मास्टर प्लान-2031 में क्या है?
CM को अफसरों ने प्रेज़ेंटेशन में क्या बताया?

28 नवम्बर, 2022 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास पर अयोध्या मास्टर प्लान 2031 का प्रेज़ेंटेशन दिया गया. इस दौरान मुख्यमंत्री ने अफसरों को अपना विज़न भी बताया. मुख्यमंत्री ने अयोध्या के सर्वांगीण विकास और अयोध्या को विश्वस्तरीय पर्यटन नगरी के रूप में विकसित करने के निर्देश देते हुए कहा कि अयोध्या की तरफ पूरा देश व दुनिया देख रही है. इसलिए सभी अधिकारी पूरी जिम्मेदारी के साथ कार्य करते हुए अयोध्या को विकास पथ पर अग्रसर करें.

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विजन के अनुरूप धर्म नगरी अयोध्या का समग्र विकास प्रदेश सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है. सीएम ने अयोध्या मास्टर प्लान 2031 को 84 कोस की शास्त्रीय सीमा तक विस्तारित करने के निर्देश दिये.

CM YOGI
CM YOGI

सीएम ने कहा कि मास्टर प्लान में ईज़ ऑफ़ लिविंग के महत्वपूर्ण संकल्प को आधार बनाया जाए. श्रीराम जन्मभूमि क्षेत्र के आसपास कॉमन बिल्डिंग कोड लागू किया जाए. कॉमन बिल्डिंग कोड से बिल्डिंग्स का कलर कॉम्बिनेशन एक जैसा रहेगा. अयोध्या में चौराहों का नामकरण यहां की पौराणिक स्मृतियों व परम्पराओं से जुड़े महान चरित्रों के आधार पर किया जाए. मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या शहर के नियोजित विकास के दृष्टिगत महायोजना के प्रस्तावों के क्रियान्वयन हेतु जोनल प्लान तैयार किये जाएं तथा विकास को नियोजित दिशा में आगे बढ़ाया जाए, ताकि किसी भी दशा में अनियंत्रित, अनियोजित बसावट विकसित न हो. उन्होंने अयोध्या को ग्रीन अयोध्या के रूप में विकसित किये जाने के निर्देश देते हुए कहा कि सरयू जी में चलने वाली बोट और स्टीमर ग्रीन फ्यूल पर आधारित हों. श्रीराम जन्मभूमि परिसर के आसपास के क्षेत्र तथा पंचकोसी परिक्रमा मार्ग में ईको फ्रेण्डली वाहनों के संचालन को बढ़ावा दिया जाए, जिससे यह क्षेत्र प्रदूषण रहित हो सकेगा.

Yogi on Ayodhya

सीएम ने ये भी कहा कि अयोध्या को सोलर सिटी के रूप में विकसित किया जाए। मास्टर प्लान में शहर की यातायात एवं परिवहन की सुचारु एवं सुगम व्यवस्था के लिए मल्टीलेवल पार्किंग एवं टर्मिनल डेवेलप किये जाएं. अयोध्या में श्रद्धालुओं तथा पर्यटकों के लिए ऑफ सीजन में श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर से 2 किलोमीटर पहले और फेस्टिवल सीज़न में 5 किलोमीटर पहले ही पार्किंग की व्यवस्था की जाए.

सीएम योगी ने ‘अयोध्या विजन-2047’ की सभी योजनाओं को गुणवत्तायुक्त एवं तय समय में पूरा करने के निर्देश दिये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: